मानवहीत सेवा संस्था ने की सभी प्राइवेट डॉक्टर्स के लिए जाँच के किट्स, मास्क्स एवं बीमा की माँग

0

मानवहीत सेवा संस्था ने की सभी प्राइवेट डॉक्टर्स के लिए जाँच के किट्स, मास्क्स एवं बीमा की माँग

कोरोनोवायरस नाम से पूरे देश में ही बल्कि पूरे विश्व में अफरा तफरी मचा रखी। इस घातक वायरस की चपेट में अब नागरिक ही नहीं बल्कि अब डॉक्टर्स भी इसकी चपेट में आ रहे हैं।

दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक के डॉक्टर की खबर ने सब की नींद उड़ा रखी है। इसी भय के कारण देश के कुछ कुछ भागों में प्राइवेट डॉक्टर्स ने अपने क्लिनिक बंद कर रखे हैं। क्लीनिक बंद होने के कारण आम जनता को काफी परेशानियों का भी सामना करना पड़ रहा है।

वहीँ दूसरी तरफ जब एक प्राइवेट डॉक्टर से इसके विषय में बात की तब पता चला की प्राइवेट डॉक्टर्स को सरकारी डॉक्टर्स से कई गुना ज्यादा रिस्क है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन डॉक्टरों के पास पर्याप्त किट्स नहीं है जिसके कारण डॉक्टर के जान के साथ जुड़े हुए मरीजों को भी जान का खतरा बना रहेगा। डॉक्टर्स का मानना है की उन्हें सरकारी डॉक्टर की तरह अगर सभी किट्स मिल जाए तो वह क्लिनिक खोलने में बिल्कुल नहीं हिचकिचाएंगे। सरकारी डॉक्टर्स को सरकार ने बीमा भी कराया है वहीं दूसरी तरफ हमे ना तो बीमा है नाही पर्याप्त किट्स एवं मास्क्स । ऐसे में क्लीनिक खोलने खतरे से खाली नहीं।

मानवहीत सेवा संस्था ने इसी विषय को केंद्र स्वास्थ मंत्रालय एवं राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से गुहार लगाई है की सरकार तुरंत डॉक्टर्स के लिए कुछ बीच का रास्ता खोले क्योंकि अगर प्राइवेट डॉक्टर्स सुरक्षित नहीं होंगे तो सरकारी अस्पताल पर दबाव बढ़ेगा। साथ साथ एक डॉक्टर भी अगर गलती से इन्फेक्टेड होता है तो समस्या काफी बढ़ सकती है। इसलिए जरूरी किट्स,मास्क्स एवं इन प्राइवेट डॉक्टर का बीमा कराने हेतु मानवहीत सेवा संस्था ने राज्य और केंद्र सरकार से मदद माँगी है क्योंकि आज पूरे देश में केवल डॉक्टर ही हमारे सैनिक है जो घातक वायरस से निस्वार्थ लड़ रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.