राजनीति चमकाने का एक अवसर दिशा एक्ट पारित करना भी है

0

राजनीति चमकाने का एक अवसर दिशा एक्ट पारित करना भी है

आंध्र प्रदेश राज्य ने तो पारित कर दिया ,बाकी राज्य
इसे कब पारित करेंगे ?

दिशा एक्ट लागू करना देश के बेटियों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी

उत्तर प्रदेश के हाथरस बलात्कार मामला बेहद निंदनीय है। सिर्फ उत्तर प्रदेश ही नहीं इसके अलावा अन्य राज्यों में भी बलात्कार की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ट्विटर पर हैशटैग ट्रेंडिंग हो या मोमबत्ती ब्रिगेड अब आम जनता इन सभी चीजों से जाग चुकी हैं। क्योंकि इन चीजों से समाज में किसी भी प्रकार का परिवर्तन अभी तक देखने को नहीं मिला है। ऐसे में अब सभी राज्यों के आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा दिशा एक्ट लागू करने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं दिख रहा है। इस कानून के तहत आरोपी को महज 21 दिनों में मृत्यु दंड दिया जाता है। ऐसे में पीड़ित के परिवार को दर दर की ठोकरें खाने की जरूरत नहीं होगी। महज 21 दिनों में न्याय सभी के समक्ष होगा।

ऐसे में अब समय आ गया है कि भारत के सभी राज्य की राजनीतिक पार्टियों को एक दूसरे की राज्य में होने वाली बलात्कार की घटनाएं को चिन्हित करने से अच्छा अपने ही राज्यों में आंध्र प्रदेश सरकार की तर्ज पर दिशा एक्ट जल्द से जल्द लागू करें। क्योंकि यही कानून पीड़ित के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। अब देखना यह होगा कि आखिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर इस देश में कब खत्म होगा और अपने अपने राज्यों में दिशा एक्ट कौनसी राजकीय पार्टी सबसे पहले लाती है ? दिशा एक्ट लाकर कौन सी राजकीय पार्टी देश के बेटियों के लिए न्याय देगी यह भी देखना दिलचस्प होगा। वैसे आंध्र प्रदेश राज्य ने इसे पारित कर देश के सामने के एक मिसाल पेश कर दी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.