कोरोना के उपचार में उपयोग होनेवाली दवाई फैवीपिराविर (Favipiravir) के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी…

0

कोरोना के उपचार में उपयोग होनेवाली दवाई फैवीपिराविर (Favipiravir) के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी…

नोट: यह समाचार आपकी जानकारी के लिए है। कोरोना से पीड़ित रोगी को हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह और इलाज लेना चाहिए। इलाज की कमी और गलत इलाज से मरीज़ की मौत हो सकती है।
कोरोना के उपचार में उपयोग होनेवाली दवाई फैवीपिराविर (Favipiravir) के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी...
कोरोना के उपचार में उपयोग होनेवाली दवाई फैवीपिराविर (Favipiravir) के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी…

फैवीपिराविर (Favipiravir)  को कोरोना संक्रमण से पीड़ित रोगी को ठीक  करने के लिए एक महत्त्वपूर्ण औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। बीते पिछले कुछ दिनों में इसके बहुत सारे उत्पाद या ब्रांड (Brand) बाज़ारों में आए हैं, जो ऊँची कीमतों पर बेंचे जा रहे हैं और इसकी आपूर्ति में भी कमी महसूस की गई है। फैवीपिराविर (Favipiravir) को लेकर डॉक्टरों की भी राय अलग अलग है।  कुछ डॉक्टरों का कहना है कि, हलके कोरोना संक्रमण से मध्यम कोरोना संक्रमण तक यह दवाई काफी कारगर है परन्तु वहीं कुछ डॉक्टर यह भी कहते हैं कि, हलके से लेकर मध्यम कोरोना संक्रमण के रोगी सामान्य दवाइयों से भी ठीक हो जाते हैं।

सामान्य औषधियों में चिकित्सक विटामिन सी, विटामिन डी, अज़िथ्रोमाइसीन और क्लोरोक्विन का उपयोग करते हैं। इनकी खुराक का निर्धारण डॉक्टर मरीज़ की स्थिति को देखकर अपने अनुभव से तय करते हैं। वहीं कुछ डॉक्टरों ने कहा है कि, फैवीपिराविर (Favipiravir) के इस्तेमाल से उन्हें मरीज़ को जल्दी ठीक करने में सफलता मिली है।  फैवीपिराविर (Favipiravir) की एक गोली २०० मिग्रा की है। कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए फैवीपिराविर (Favipiravir) की निर्धारित खुराक है पहले दिन १८०० मिग्रा की दो खुराक दूसरे दिन से लेकर चौदहवें दिन तक ८०० मिग्रा की दो खुराक रोजाना।

भारतीय औषधि महानियंत्रक (Drugs Controller General of India) ने फैवीपिराविर (Favipiravir) को केवल प्रतिबंधित आपात इस्तेमाल के लिए ही अनुमति दी है। फैवीपिराविर (Favipiravir) को अभी तक स्वास्थय मंत्रालय ने इसे अपने नैदानिक प्रबंधन (Clinical Management) में शामिल नहीं किया है। फैवीपिराविर (Favipiravir) के लिए सबसे पहले ग्लेनमार्क फार्मा को बाज़ार में बेंचने की अनुमति मिली थी। प्रारम्भ में ग्लेनमार्क ने इसकी कीमत रुपये १०३/गोली रखी थी। बाद में प्रतिस्पर्धा को देखते हुए ग्लेनमार्क फार्मा ने फैवीपिराविर (Favipiravir) कीमत घटाकर रुपये ७९/गोली कर दी। हेटेरो फार्मा (Hetero Pharma) ने अपना फैवीपिराविर (Favipiravir) का ब्रांड रुपये ५९/गोली में बाजार में उतारा है। 

 
आइयें देखते हैं कि, कौन सी कंपनी कितने में फैवीपिराविर (Favipiravir) की गोली बेंच रही है।
कंपनी ब्रांड कीमत/गोली स्थिति
ग्लेनमार्क फार्मा फाबिफ्लू 79 उपलब्ध
हेटेरो फार्मा  फ्राविविर 59 उपलब्ध
जेनबर्क्ट फार्मा फैविवेन्ट 39 अनुपलब्ध
सिप्ला सीप्लेन्ज़ा 68 अनुपलब्ध
ब्रिंटन फार्मा फ़ैवीटोन 59 अनुपलब्ध
सन फार्मा फ्लूगॉर्ड अनुपलब्ध
डॉ. रेड्डी’स फार्मा अनुपलब्ध
स्ट्राइड्स फार्मा अनुपलब्ध
नोट: यदि आपको हमारी खबर अच्छी लगे तो हमारे न्यूज़ पोर्टल पर बेल आइकॉन दबाकर इसे सब्सक्राइब करें। आप खुद भी अपनी न्यूज़ हमारे पोर्टल पर होमपेज पर जाकर Submit news ऑप्शन पर क्लिक करके पोस्ट कर सकते हैं, या हमे ऊनी न्यूज़ contact@trublitz.com पर ईमेल कर सकते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.