बिहार के मुजफ्फरपुर में 3000 नीलगाय की जान खतरे में होने से पशु प्रेमियों में चिंता

0

बिहार के मुजफ्फरपुर में 3000 नीलगाय की जान खतरे में होने से पशु प्रेमियों में चिंता

बिहार राज्य में कई समय से किसान वर्ग में को लेकर काफी परेशानियों का ना पड़ रहा है। किसानों के अनुसार नीलगाय के आक्रमकता के कारण किसानों को काफी मशक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ साथ काफी नुकसान का बोझ भी झेलना पड़ता है।

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, 23 जनवरी से 3000 नील गायों की हत्या की खबर से पूरे देश के पशु प्रेमी वर्ग में नाराजगी एवं रोष देखने मिल रहा है। (Fight against Evil )फाइट अगेंस्ट इविल एक ट्विटर ग्रुप ने इस विषय को सरकार और सभी प्राणी संगठनों के निर्देश में लाकर इस सामूहिक हत्या पर रोक लगाने की मांग की है।

पशु प्रेमियों का कहना है की नीलगाय की आक्रामकता से किसान जरूर परेशान है मगर इसका मतलब यह नहीं की इन बेजुबान जानवरों को मौत के घाट उतारा जाए। जिस प्रकार मोर, शेर आदि वन्यजीवों की रक्षा के लिए सेंचुरी एवं एनिमल पार्क बनाए जाते हैं। ठीक उसी प्रकार इन 3000 नील गायों के लिए राज्य सरकार को एक पॉलिसी बनानी चाहिए जिससे इन सभी नील गायों को उस सेंचुरी (Sanctuary) में स्थलांतर कर किसान एवं नील गायों को बराबर का न्याय दिया जा सके।
इस तरह की पॉलिसी बनाकर किसान वर्ग के साथ साथ सभी पशु प्रेमी भी खुश रहेंगे।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.