भारतीय रेल के कर्मचारियों पर आई एस आई की नजर

0
78

भारतीय रेल के कर्मचारियों पर आई एस आई की नजर

पाकिस्तान से कर्मचारियों को जानकारी देने के लिए मिल रहा है लालच

भारतीय रेल में अब आतंकियों ने शिरकत करने की खबर आ रही है। इन्ही कारणों से अब भारतीय रेल का खुफिया विभाग सतर्क हो गया है क्योंकि भारतीय रेल के कुछ कर्मचारियों को पाकिस्तान से फ़ोन कॉल आते थे।

आपको बता दे , जम्मू कश्मीर में सिग्नल विभाग में तैनात रेल डिवीज़न फिरोजपुर के रेलकर्मी मुद्दसिर राशिद पुत्र अब्दुल रशीद भट पुलवामा में आतंकी संगठन में शामिल हो गया था।वह रेलवे में अपने कार्यकाल में भी आतंकी संगठनों के लिए जासूसी करने के अलावा उनके हर वारदात में मदद करता था।

रेल कर्मी गुरनाम सिंह को कुछ माह पहले उनके मोबाइल पर पाकिस्तान से कॉल आते थे जिसमें उन्हें कई तरह के लालच के पेशकश हुई थी। इस विषय को गंभीरता से लेकर गुरनाम सिंह ने अपने वरिष्ठ अधिकारियों से सूचित कर दिया है।
दरअसल पाकिस्तान रेल कर्मचारियों से सेना की स्पेशल ट्रेनों के बारे जानकारी हासिल करना चाहती थी।
ऐसा माना जा रहा है की रामकेश्वर मीणा भी ऐसे ही कॉल का शिकार हुआ होगा। बताया जा रहा है की अटारी अंतरराष्ट्रीय रेल्वे स्टेशन पर कार्यरत गेटमैन के पास कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद हुए जो देश की सुरक्षा से जुड़े थे।

आपको बता दे पुलवामा निवासी मुदस्सर राशिद पुत्र अब्दुल रशीद भट चार महीने तक गैरहाजिर था। इसी बीच उसने एके 47 के साथ सोशल मीडिया पर अपनी फोटो अपलोड कर आतंकी बनने की बात स्वीकार की थी।

रामकेश्वर मामला उजागर होने के बाद अब रेलवे का खुफिया विभाग अलर्ट हो चुका है और अपने सभी रेल कर्मचारियों पर पैनी नजर रखे हुए हैं।

 

 

 

स्रोत: आज का आनंद 24 जुलाई2019

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.